रविवार, 18 नवंबर 2007

हास्य-क्षणिका 05

पत्नी जी के जन्म-दिवस पर
दो लाईना हम ने भी
कुछ हुलस-हुलस कर
यूं लिख डाला
"जन्मदिन की शुभ घडी
कोई नई पहचान दे दो "

प्रत्युत्तर में पत्नी बोली
"मेरे बाप को समझा क्या
HMT वाला !
शादी में जो घडी मिली
वो क्या कर डाला ?

कोई टिप्पणी नहीं: